Google+ Followers

सोमवार, 5 सितंबर 2011

मेरे अनुभव -पल्लवी जी का ब्लॉग

ब्लॉग का नाम-मेरे अनुभव 
ब्लॉग स्वामिनी का नाम व् परिचय -My Photo

Pallavi

मेरे बारे में

मैं भोपाल की रहने वाली हूँ और मैंने अपनी सम्पूर्ण शिक्षा भोपाल में ही प्राप्त की है। मैंने भोपाल के नूतन कालेज से बी.ए एवं अँग्रेज़ी साहित्य में एम.ए किया है। मैं एक साधारण सी ग्रहणी हूँ और पिछले 5 वर्षों से यहाँ लंदन में रह रही हूँ। मेरा ब्लॉग देख कर शायद आप को अजीब लगे कि मैं अँग्रेज़ी साहित्य में एम.ए होने के बावजूद भी हिन्दी में ब्लॉग क्यूँ लिखती हूँ । तो मैं यहाँ आप को बताना चाहती हूँ कि मैं हिन्दी के बहुत बड़े लेखक श्री मुंशी प्रेमचंद जी को बहुत पसंद करती हूँ और उन के लेखन की सरल भाषा को ध्यान में रखते हुए उनसे प्रेरित होकर मैंने अपने ब्लॉग की भाषा को भी सरल बना कर लिखने का प्रयास किया है। ताकि मेरे ब्लॉग को हर आयु, हर वर्ग, का व्यक्ति आसानी से समझ सके। पिछले एक वर्ष से ही मैंने ब्लॉग लिखना आरंभ किया है और मेरा विषय है (मेरे अनुभव)। यह विषय मैंने इसलिए चुना क्योंकि मुझे ऐसा लगता है, कि यही एकमात्र ऐसा विषय है जिस पर मैं खुल कर अपने विचार लिख सकती हूँ । क्योंकि मेरा ऐसा मानना है, कि विषय तो और अन्य भी है किन्तु उस में किसी की भावनाओं को जाने अनजाने में ठेस पहुँच सकती है। किन्तु मेरा विषय ऐसा है ,जिसमें इस बात की कोई गुंजाइश नहीं है। क्योंकि मैं जो कुछ भी लिखूँगी वो मेरे अपने विचार और अनुभव है। 

ब्लॉग का URL -http://mhare-anubhav.blogspot.कॉम
मेरी राय-लेखन का अलग अंदाज़ .विषय-चयन में माहिर हैं पल्लवी जी .मेरी ओर से उन्हें हार्दिक शुभकामनायें 
               आप भी होकर  आयें इनके ब्लॉग पर और बताएं अपने अनुभव .
                                        शिखा कौशिक 

6 टिप्‍पणियां:

Pallavi ने कहा…

अरे वहा.... यह क्या शिखा जी, आपने तो जैसे जादू कारदिया :) आपका बहुत-बहुत आभार की अपने मुझे और मेरे ब्लॉग को इस लायक समझा और यहाँ (यह ब्लॉग अच्छा लगा) में स्थान दिया॥ सचमुच मुझे यह ब्लॉग और आपका यह प्रयास बहुत ही अच्छा लागा इसके लिए मैं आपकी तहे दिल से शुक्र गुज़ार हूँ...

शिखा कौशिक ने कहा…

thanks a lot PALLAVI JI to share your feelings with us .

शालिनी कौशिक ने कहा…

पल्लवी जी के विचार और ब्लॉग बहुत अच्छा लगा.आभार शिखा जी इतने विचारवान ब्लॉग से जोड़ने हेतु

शिक्षक दिवस की बधाइयाँ

डॉ0 ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ (Dr. Zakir Ali 'Rajnish') ने कहा…

पल्‍लवी जी से मिलवाने का आभार।

------
नमक इश्‍क का हो या..
पैसे बरसाने वाला भूत...

smshindi By Sonu ने कहा…

abhar

Pallavi ने कहा…

धन्यवाद दोस्तों... के आप सभी को मुझ से मिलकर अच्छा लगा। यह जान कर बहुत खुशी हुई, और शिखा जी आप तो मुझे भूल ही गई :)आप से एक अनुरोध है। नये ब्लॉग पोस्ट किए हैं समय मिले तो जरूर आयेगा आपका स्वागत है और इंतज़ार भी ...धन्यवाद
http://mhare-anubhav.blogspot.com/